Categories Find a Hospital
एलर्जी QNA

एलर्जी

एलर्जी क्‍या है, यह किन कारणों से होता है, एलर्जी कितने प्रकार का होता है, इसके लक्षण क्‍या-क्‍या हैं और इसका उपचार किस तरह हो सकता है, आदि सवालों के जवाब आप यहां पा सकते हैं। अगर आपके मन में एलर्जी को लेकर कोई सवाल है तो यहां पूछें।

OMH Expert (owner)

अपने स्वास्थ्य, लाइफस्‍टाइल और रहन-सहन से संबंधित सभी सवालों के जवाब पाएँ

प्रश्न पूछें

  • Question asked by kamlesh
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      Mon at 5:22 PM View All Answers (1)
    • A. सवाल पूछने के लिए धन्यावद। शायद आपके घर में धूल बहुत ज्यादा हो। क्योंकि सुबह उठने पर हमारा शरीर काफी संवेदनशील होता है। ऐसे में घर में मौजूद धूल भी परेशानी का सबब बन सकती है। नियमित तौर पर घर की अच्छे से सफाई करें। इस काम में वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल कर...  more

    • Like 0
  • Question asked by Chandrakant Chandu
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      Mon at 5:20 PM View All Answers (1)
    • A. सवाल पूछने के लिए धन्यावद। हाथ व पैरों में खुजली की समस्या काफी परेशान करने वाली होती है। यह आमतौर पर तब होता है जब त्वचा कोशिकाएं तेजी से बढ़ने लगती हैं तथा फिर ये त्वचा की सतह पर जमा हो जाती हैं। लंबे समय तक रहने वाला ये विकार आमतौर पर वंशानुगत होता है ...  more

    • Like 0
  • Question asked by Yogender Kumar
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 23 View All Answers (1)
    • A. Sawal poochhne ke liye dhanyawaad, Yogender ji. Waise to khujli hone ke kayi karan ho sakte hai jaise ki skin ka rukhapan ya koi skin allergy. Agar to skin rukhi hai to rozana nahane wale paani me zara sa nariyal tel daal kar nahayein parantu agar aapko l...  more

    • Like 0
  • Question asked by Subhash Khokhar
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 23 View All Answers (1)
    • A. सवाल पूछने के लिए धन्यवाद। खुजली में घी का प्रयोग करें। गाय का घी बहुत ही गुणी और उपयोगी होता है। इसमें कैंसर से भी लड़ने की क्षमता होती है। माना जाता है कि गाय का घी जितना पुराना होता है वो उतना अधिक गुणी होता है। पुराना घी तीक्ष्ण, खट्टा, तीखा और उष्ण ह...  more

    • Like 0
  • Question asked by Anurag Mehra
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 23 View All Answers (1)
    • A. अनुराग जी सवाल पूछने के लिए धन्यवाद। अपने जूतों और मोजों को साफ रखें। हर रोज अपने मोजे को धोएं और हमेशा ऐसे मोजे का इस्तेमाल करें जो पैरों में होने वाले पसीने को सोख लें। अगर आप कपड़े के जूतों का प्रयोग कर रहें हैं तो उन्हें भी समय-समय पर धोना जरूरी है। च...  more

    • Like 0
  • Question asked by Kisan Mittal
  • Question asked by Pratik Tupare
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 21 View All Answers (1)
    • A. Sawal poochhne ke liye dhanyawaad, Pratik. Ankho me khujli bohot kaarano se ho sakti hai, gharelu upaye ke taur par aap aankho me chamomile tea bags lein aur unko apne ankho par dus minute ke liye rakhey, din me do teen baar karne se apko aaram padega. Ya...  more

    • Like 0
  • Question asked by Abhishek Singh
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 20 View All Answers (1)
    • A. Khujli ka ilaaj puri tarah se khujli hone wali jagah par nirbhar karta hai. Agar khujli sir par hai to aap nariyal tel me nimbu ka rass millaye aur hafte me do baar malish karein. Parantu ek bar laga ke, ek ghante me hi dho lein. Aur dhyan rakhein ki nimb...  more

    • Like 0
  • Question asked by sujata pattanaik
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 17 View All Answers (1)
    • A. Dust allergy ke liye, teen gilas seb ke sirkey wala paani piye ya fir rozana ek dafa steam lele ya phir aap rozana ek chammach shehed bhi pee sakte, rozana green tea ka sevan bhi aapko madat karega. Aur behtar madat ke liye ye lekh padhey: http://www.only...  more

    • Like 0
  • Question asked by abhishek
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 16 View All Answers (1)
    • A. एप्पल साइडर सिरका किसी भी प्रकार के फंगल इंफेक्‍शन के लिए बहुत आम इलाज है। एंटीमाइक्रोबील गुणों की उपस्थिति के कारण सेब साइडर सिरका, संक्रमण पैदा करने वाले कवक को मारने में मदद करता है। इसके अलावा, इसकी हल्‍‍की एसिडिक प्रकृति संक्रमण को फैलने से रोकने में...  more

    • Like 1
  • Question asked by Tamanna
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 17 View All Answers (1)
    • A. चर्म रोग में दाद, खुजली, एक्जिमा आदि सारी बीमारियां आ जाती हैं। ये बीमारियां शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती हैं। ये अनियमित खान-पान, दूषित आहार, शरीर की सफाई न होने एवं पेट में कृमि के पड़ जाने और लम्बे समय तक पेट में रहने के कारण होते हैं। इन सारी बी...  more

    • Like 0
  • Question asked by sachin Gupta
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 17 View All Answers (1)
    • A. वातावरण में धूल, मिट्टी व प्रदूषण के कारण त्वचा के बाहरी छिद्र बन्द हो जाते हैं जिससे त्वचा के आन्तरिक विकारों का निकलना बन्द हो जाता है। इससे बाहरी व आन्तरिक त्वचा के विकार बीच में ही इकट्ठे होकर त्वचा रोग के रूप में दाद, खुजली, एक्जिमा आदि अनेक प्रकार क...  more

    • Like 0
  • Question asked by Sandeep Karora
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 16 View All Answers (1)
    • A. डैंड्रफ की समस्या होने पर स्कॉल्प की सफाई का ध्यान रखना आवश्यक है। इसीलिए सप्ताह में दो-तीन बार अच्छा हर्बल शैंपू करना चाहिए और बालों को अच्छी तरह से कण्डीशनिंग करनी चाहिए।रोज रात को बालों की जड़ों में सरसों के तेल से मालिश कीजिए। सुबह शिकाकाई पानी में उबा...  more

    • Like 0
  • Question asked by salman
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 14 View All Answers (1)
    • A. सलमान जी आपके साथ तो बहुत ही बुरा हुआ है। लेकिन कोई नहीं। आगे बढ़ें और इसका इलाज कराते रहें। क्योंकि ट्रीटमेंट के अलावा इसका कोई इलाज नहीं है। साथ ही आप भी बाहर का खाना बिल्कुल बंद कर दें। ज्यादा से ज्यादा फलों का जूस पिएं जिससे फेफड़े डिटॉक्सीफाई हो जाएँ...  more

    • Like 0
  • Question asked by Preet Kaur
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 14 View All Answers (1)
    • A. ये कान संक्रमण की निशानी है। कान में होने वाला संक्रमण बैक्टेरिया और वायरस के कारण होता है। यह समस्या बड़ों से ज्यादा बच्चों में होती है। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे फूड एलर्जी, वैक्स का बनना या पर्यावरण में होने वाला बदलाव। कान में होने वाले संक्रमण से...  more

    • Like 0
  • Question asked by Sanket Meshram
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 10 View All Answers (1)
    • A. दाद और खुजली के लिए लहसून का अर्क रामबाण इलाज है। लहसुन में प्राकृतिक एंटी-फंगल तत्‍व पाये जाते है, जो दाद सहित कई प्रकार के फंगल
      इंफेक्‍शन को ठीक करने में सहायक होते हैं। लहसुन को छिलकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर उसका अर्क निकालकर दाद पर लगाने से आराम मिल...  more

    • Like 0
  • Question asked by baijnath kumar
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 9 View All Answers (1)
    • A. हेपेटाइटिस बी एक संक्रमित रोग है। इससे सुरक्षा ही इससे बचने का तरीका है। हेपेटाइटिस बी वायरस का संचरण संक्रमित रक्त या शरीर के तरल पदार्थ के संपर्क में जाने से होता है। प्रमुख लक्षण हैं- लीवर में सूजन और जलन, उल्टी, जो अन्ततः पीलिया और कभी-कभी मौत का कारण...  more

    • Like 0
  • Question asked by Pushpendra Behra
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 9 View All Answers (1)
    • A. पसीने की वजह से खुजली तब होती है जब त्वचा संक्रमित हो जाती है। ऐसे में संक्रमित त्वचा पर लहसून के इस नुस्खे का इस्तेमाल करें।
      लहसुन में एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीबायोटिक गुण होते हैं, जो बॉडी में किसी भी तरह की रिकवरी के लिए सहायक है। दो लहसुन की कली को अच्...  more

    • Like 0
  • Question asked by rajendra
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 8 View All Answers (1)
    • A. दाद और खुजली के लिए लहसून का अर्क रामबाण इलाज है। लहसुन में प्राकृतिक एंटी-फंगल तत्‍व पाये जाते है, जो दाद सहित कई प्रकार के फंगल इंफेक्‍शन को ठीक करने में सहायक होते हैं। लहसुन को छिलकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर उसका अर्क निकालकर दाद पर लगाने से आराम मिलत...  more

    • Like 0
  • Question asked by Sumit K S'rma
     
     
    Answered by Team OMH
    • Team OMH

      February 7 View All Answers (1)
    • A. दाद एक फंगल इन्फेक्शन है जो सर, पैर, गर्दन या किसी अंदरुनी भाग मे कहीं भी हो सकता है। ये लाल या हलके ब्राउन रंग का गोल आकार का होता है। लेकिन डरें नहीं क्‍योंकि घरेलू उपायों की मदद से यह आसानी से ठीक भी हो जाता है। अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर ...  more

    • Like 0